Blog

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (21.04.17)

Premarital sex generally is taboo in old generation where as it is done thing and sign of modernity / sign of advancement in the present generation. 

ajaymohanjain.com

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (07.04.17)

 

Honesty   (ईमानदारी)

          I was standing in a government office in a fix, wondering why my file was not moving when it was just go to next table from the adjacent table.

          “How can you touch the office-paper?” growled clerk when I said what was there even I could have passed the file to him. After a pause he added, “Go and tell peon Ram Prasad sitting outside on a bench to get me the file.”

          When I asked Ram Prasad, he coolly said, “How can it move unless you put two wheels to it?” I hesitantly gave him a ten rupee note and he looked at me, “Nothing else you have?” When I shook my head, he said, “Okay, let me do your job first.” I heaved a sigh of great relief.

          After finishing my work when I was about to step onto the staircase, I heard somebody yelling, “Babu-Babu.” When I turned back, I saw Ram Prasad coming, huffing and puffing, “O’ Babu, take your balance eight rupees.”

          “How?” I was amazed.

          “Oh, it seems you are a novice….. For getting a file from one table to another, you need to put two wheels – meaning thereby you have to pay two coins of one rupee…. We don’t work just like that Babu, we work with honesty as per the rate.”

 

ईमानदारी अपनी-अपनी

रिक्शेवाले को बीस रुपये का तय भाड़ा देकर उसे एक रुपया और देने लगा तो वह बोला, “साहब, मैं सिर्फ़ मेहनत की कमाई का तय किया हुआ भाड़ा ही लूँगा”

और वह बिना एक रुपये लिए चला गया और मैं अवाक सा देखता रह गया.

 ajaymohanjain.com

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (10.03.17)

  1. lekt&lsok

csVs us viuh lekt&lsfodk ekWa dk v[kckj esa Hkk”k.k nsrs gq, QksVks ns[kdj iwNk] ^^eEek] rqe lc txg rks cPpksa dks i<+kus ds fy, Hkk”k.k nsrh ?kwerh gks] xyh&eksgYys&cLrh esa eka&cki dks izsfjr djrh ?kwerh gks] ij rqe dHkh viuh dkeokyh dks mldh cPph dks i<+kus ds fy, ugha dgrh gks—A**

 

^^vxj oks lc yksx Hkh i<+&fy[k tk,xas rks rsjs ?kj esa dke dkSu djsxk\** ekWa us Qksu ij v[kckj okyksa dks vius vxys izksxzke ds le; vkSj LFkku dh tkudkjh nsrs gq, dgk A

 

  1. जिंदगी में आदमी की हार सिर्फ़ अपने बच्चो से होती है.

 

ajaymohanjain.com

 

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (03.03.17)

 

  1.  पापा

“यह क्या तुम सारे टाइम छज्जे पर खड़े रहते हो… समझ में नही आता क्या देखते रहते हो … च्लो अंदर,” किशोर बेटो को झिड़कते हुए बोले पापा.  

तभी नीचे सड़क से एक नवयुवती गुज़री और बेटे ने कमरे में घुसते हुए देखा की पापा की गर्दन उस नवयुवती के साथ ऐसे घूम रही थी जेसे रडार का आटिना सेटेलाइट के साथ.

  1. At times I wonder that I have nothing in my luck account but then I realise that I have already exhausted my luck account on my birth by becoming male (instead of female).

 

  1. Pissing in a Hospital ‘Susu pot’ is like fucking a pros.

 

  1. एकांत (seclusion, solitude) और तन्हाई (loniness) में थोड़ा फ़र्क होता है. एकांत फिर भी ठीक है पर तन्हाई दर्दकारक होती है.

Short story courtesy Abhinav Jain

 

mlwy

vHkh geus cM+k iko [kkuk ‘kq: gh fd;k Fkk rHkh ,d NksVh cPph yypkbZ gqbZ utjksa ls vkdj cksyh] ^^ckcw] cM+k iko nks ukA** ^^vjs gVks!** dg dj eSaus mls f>M+d fn;kA ^^/ka/kk gh cuk fy;k gS bu yksxksa us]** eSa viuh choh dks cksyk] ^^irk gS uk budk iwjk xqV gksrk gS tks lkFk esa ekaxrk gS] vkSj vly esa bl cPph dks dqN ugha feysxk] lc dqN rks bldk ckWl gM+i tk;sxk] esjk mlwy gS fd eSa dHkh ekaxus okyksa dks ugha nsrk gw¡A**

ge ls c<+ dj oks cPph vxys ;qok ;qxy ds ikl ekaxrh gqbZ pyh xbZA ogk¡ mldks lQyrk gkFk yxh vkSj iwjk dk iwjk cM+k iko fey x;kA [kq’kh ls mNyrh gqbZ oks FkksM+h nwj tk dj cM+k iko [kkus yxhA vHkh mlus [kkuk ‘kq: gh fd;k gksxk fd ,d v/ksM+ mez ds vkneh us mlls cM+k iko Nhu dj iko [kqn j[k fy;k] cM+k cPph dks okil ns fn;kA cPph vHkh Hkh mruh gh [kq’kh ls [kkrh jgh vkSj og vkneh ogk¡ ls pyk x;kA

;g ns[k dj eSa cksyk& ^^ns[kk! oks jgk ml cPph dk ckWl] iSls rks NksM+ks] [kkus esa Hkh fgLlk ys dj pyk x;kA** ysfdu esjs eu esa dqN mRlqdrk tkxh fd vkf[kj ;g ml iko dk djsxk D;k] eSa mlds ihNs&ihNs x;kA dqN nwj pyus ds ckn og tk dj ,d v/ksM+ mez dh vkSjr ds ikl :dk vkSj mldks cM+k ns dj cksyk& ^^;g yks xqM~Mh dh vEek] [kkvks] xqM~Mh dks vHkh lkgc us fn;k rks cM+k mldks f[kyk dj iko rqEgkjs fy;s ys vk;kA dc rd ugha [kkvksxh\ rhu fnu gks x, dke feys gq, vkSj rqe gks dh Hkh[k&Hkh[k cksy dj mlwyksa ds otg ls dqN [kkrh gh ugha gksA**

vfHkuo tSu] vkbZ0vkbZ0,e0] vgenkckn

==

Abhinav Jain

ajaymohanjain.com

 

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (24.02.17)

1. बेशर्म

मालकिन ने जवान नौकरानी को झाड़ते हुए काहा,  “यह क्या बेशर्म की तरह बदन-उघाड़ू कपड़े पहनकर आती है….”

पर….पर… बीबीजी मैं तो आपकी ही दी हुई उतर्न पहनती हूँ”

Shameless

House-lady rebuking the young maid-servant warned, “Don’t you feel embarrassed wearing all those revealing clothes? Don’t come here that shamelessly….”

“But……but… madam, I wear only those clothes, used and given by you……..”

 

  1. People listen to reply and not to understand and respond.

दो तन एक कमरे में पास-पास होने पर भी चिला-चिला कर बोलते हैं (मियां-बीबी के झगड़े), दो मन पास होने पर बिना बोले भी communicate कर जाते हैं.

 

  1. Gandgi breeds talent

 

Short story courtesy Tanu Singh

 

इनाम

उस दिन बारहवीं का रिज़ल्ट निकालने वाला था. जतिन ने साल भर बहुत मेहनत करी थी और उसे कक्षा मे प्रथम आने की पूरी उम्मीद थी. फिर भी उम्मीद तो उम्मीद होती है. जब तक परिणाम आ न जाए तब तो कोई गारंटी नही होती है. जतिन बड़ी आशाए लिए स्कूल पहुँचा और उसने परीक्षाफल देखा. वो पूरे स्कूल में प्रथम था.    

     “और जतिन इस बार भी बाजी मार ही ली,”आशीष ने पूछा. “हाँ यार,” शर्माकर जतिन बोला. “और क्या इनाम लोगे पिताजी से इस बार,” आशीष ने फिर पूछा. इनाम तो क्या ही लूँगा…” कुछ सोचते हुए जतिन बोला और अपने पिताजी के आने की राह ताकने लगा जिनके आने का समय हो चला था.क्या बात कर रहे हो? मैं होता तो अपने पिताजी से कम से कम नई बाइक ज़रूर लेता ही,” आशीष के मुँह से निकला. “जतिन… जतिन…” तभी आशीष ने एक आदमी को पुरानी सी साइकल से आवाज़ लगाते हुए देखा.”

                                                                                            तन्नू सिंग  आई आई एम अहमदाबाद

==

Tanu Singh

ajaymohanjain.com

 

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (17.02.17)

 

  1. A Win-Win Situation

“Oh, you people don’t do anything without….(tipping),” university college professor was fretting over for not getting his arrears passed in the concerned government department, “Is it fair?”

“You people also run coaching classes instead of teaching in the college….Is that fair? ….Anyway, leave these things; there is no point in useless discussions. ….See, you are to be paid about rupees sixty thousand as arrears, and even if it gets delayed by one month, you will be losing six hundred rupees as interest at one percent rate…. If you want, your work can be done immediately in three hundred rupees…. This way both of us stand to gain, just think over it….. A perfect win-win situation….,” and professor had no answer to it.

  1. Women are normally stronger than men but less sensitive.
  1. जो दूसरी औरत में स्मार्ट लगता हैं, वही अपनी बीबी पर चीप लगता है.

 

Short story courtesy Arun Singh Ruhela-

सुपर स्टार

अन्दर दफ्तर में सफ़ेद कुर्ता पहने राहुल के पिता से बात करते हुए प्रिसिपल ने अंत में कहा.. ” आप के बच्चे ने १०० में से ६० अंक लिए हैं.. बच्चा पढाई में कमजोर है.. आठवी कक्षा में दाखिल नहीं हो सकता है.. पर आप की बात रखते हुए इसे सातवी में ले सकते हैं.. और कोई विकल्प नहीं है.. ! ”

“ठीक है.. वैसे आप का स्कूल रियायती जमीन पर बना है.. इस बाबत गुम फाईल शायद मिल गयी है.. ”

थोड़ी देर बाद.. दफ्तर के बाहर.. प्र्न्सिपल राहुल को सबसे मिलवा रही थी.. ” ये राहुल है.. कक्षा नौ में दाखिल हुआ है.. उस क्लास का नया स्टार ”

आस पास खड़े टीचर धीमे से मुस्कुरा दिए.. !

==

अरुण

ajaymohanjain.com

 

 

Na Ghar Ke, Na Ghat Ke    ना घर के, ना घाट के

Ajay Mohan Jain (10.02.17)

Bankers are mediocre, by and large.  इसीलिए वो  ‘… ना घर के होते हैं, और ना घाट के … ’. Unfortunately, I am also one of them. समाज में इस तरह के तबके और लोगो के कमी नही. अब हर हफ्ते एक ब्लॉग ‘… ना घर के, ना घाट के … ’  आएगा जो की एक दम बेबाक होगा, बिना किसी लाग-लपेट के. यह सिर्फ़ व्यक्तिगत अनुभवो पर आधारित होगा. इसमें सभी तबके के अनुभवों को साझा किया जाएगा. यह ब्लॉग हिंगलिश (English and हिन्दी) मे होगा because I am not all that fluent in English, being a foreign language, और हिन्दी में लिखने में शरम आती हे.

ajaymohanjain.com

No comments yet.

Leave a Reply

Post Your Comment

Inknuts Multimedia Solutions